कोरोना मामले में राजधानी दिल्ली ने चीन को पीछे छोड़ा, संक्रमितों का आंकड़ा 85,000 के पार

0
41

[ad_1]

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले चीन से ज्यादा हो गए हैं।

दिल्ली

Edited By: Raj Shatrughan

Updated on: 1 घंटा पूर्व

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले चीन से ज्यादा हो गए हैं। राज्य सरकार के द्वारा जारी किए गए हालिया आंकड़ों के मुताबिक, बीते सोमवार को राजधानी में कोरोना की 2084 नए केस दर्ज किए गए, इसके साथ ही मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 85,161 तक पहुंच गई। बता दें कि चीन (corona virus cases in china) में अब तक कुल 83,513 केस ही सामने आए हैं। हालांकि, सबसे राहत की बात यह है कि मरने वालों का आंकड़ा चीन की तुलना में काफी कम है और इस महामारी से ठीक होने वालों की दर भी लगातार बढ़ती जा रही है।

WHO यानी विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, सोमवार तक चीन में कोविड-19 संक्रमण (covid-19) से कुल 4600 लोगों की जान गई थी जबकि राजधानी दिल्ली में सिर्फ 2680 लोगों को जान गंवानी पड़ी। हालांकि, चीन (china) में अब एक भी मौत सामने नहीं आ रही है वहीं, दिल्ली में इस खतरनाक वायरस (corona virus) से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। पिछले 24 घंटों के दौरान भी 57 लोगों को जान गंवानी पड़ी, यह काफी चिंता का विषय है।

56,000 से ज्यादा मरीज हुए स्वस्थ-

देश की राजधानी दिल्ली में अब तक कुल 56,236 मरीज कोरोना वायरस (corona virus cases in Delhi) को शिकस्त दे चुके हैं। सोमवार देर शाम तक राजधानी में 3629 लोग कोविड-19 से ठीक हुए। वहीं दिल्ली में फिलहाल कोविड-19 (covid-19) के कुल 26,247 एक्टिव केस हैं, जिनका अलग-अलग अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

कोरोना के नए मामलों ने बढ़ाई चिंता-

जारी किए गए हालिया आंकड़ों के देखें तो राजधानी दिल्ली (New Delhi) में बीते 10 दिनों से औसतन रोजाना 3,000 केस सामने आ रहे थे लेकिन सबसे राहत की बात है कि पिछले 2 दिन से इसमें कमी दर्ज की जा रही है।

तमिलनाडु भी निकला आगे-

राजधानी दिल्ली के बाद तमिलनाडु में भी कोरोना संक्रमण (corona cases in Tamil Nadu) के मामले चीन से अधिक हो गए हैं। आंकड़ों को देखें तो तमिलनाडु में सोमवार देर शाम तक 86225 केस हो गए। हालांकि, यहां मौतें चीन के मुकाबले काफी कम हैं। यहां अब तक कोरोना वायरस (corona virus in Tamil Nadu) के चलते सिर्फ 1141 लोगों को ही जान गंवानी पड़ी है। यहां 55.3% मरीज पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं। 

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here