गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी ऋचा और उसके बेटे को पुलिस ने 16 घंटे बाद छोड़ा..

0
38

[ad_1]

राजनीति

Edited By: Pooja Jangid

Updated on: 25 सेकंड पूर्व

उत्तर प्रदेश. 8 पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे (vikas dubey) आज एनकाउंटर में ढेर कर दिया गया है. आपको बता दें कि गुरुवार को विकास दुबे को उज्जैन की महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया था. विकास को मध्य प्रदेश से उत्तर प्रदेश ले जाया जा रहा था इसी बीच पुलिस की गाड़ी पलट गई और उसके बात पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में विकास दुबे मारा गया.

उधर गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी ऋचा और उसके नाबालिक बच्चे को पुलिस ने 16 घंटे तक अपनी गिरफ्त में रखा. लेकिन अब पुलिस ने उन्हें छोड़ दिया. कानपुर के एसपी दिनेश कुमार प्रभु का कहना है कि रिचा की कानपुर शूटआउट में कोई भूमिका नहीं पाई गई है वारदात के समय उसकी पत्नी वहां मौजूद नहीं थी हालांकि नौकर महेश अभी भी पुलिस की गिरफ्त में है उसे लगातार पूछताछ की जा रही है.

गुरुवार रात करीब 8:30 बजे विकास की पत्नी ऋचा उसके बेटे और नौकर महेश को लखनऊ में पुलिस ने हिरासत में लिया उसके बाद तीनों को कानपुर लाया गया लगातार उनसे पूछताछ की गई पूछताछ के बाद दोपहर 12:20 बजे रिचा और उसकी बेटी को पुलिस ने छोड़ दिया.

लेकिन सोचने वाली बात है कि विकास दुबे एक अपराधी था , उसे उसके अपराध की सजा मिल चुकी है .लेकिन पुलिस के द्वारा उसके नाबालिक बच्चे से पूछताछ करना, उसे 16 घंटे तक अपनी हिरासत में रखना कहां तक उचित है ? इससे उस बच्चे के मानसिक स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ेगा ? क्या इन सब के बाद यह समाज विकास की पत्नी और उसके बच्चे को सम्मान भरी जिंदगी से जीने देगा ? क्या इन सब का असर विकास के नाबालिक बच्चे के भविष्य पर नहीं पड़ेगा ? क्या पिता की सजा आखिरकार जिंदगी भर उसके बेटे को भुगतनी पड़ेगी ?

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here