जम्मू-कश्मीर में सरपंच की हत्या के बाद घाटी में खौंफ का माहौल, जम्मू हो रहें हैं शिफ्ट

0
78

[ad_1]

जम्मू-कश्मीर के अंनतनाग जिले में आतंकियों द्वारा सरपंच अजय पंडिता की गोली मारकर हत्या कर देने के बाद से घाटी में सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गये हैं. इसके बाद ही घाटी में रह रहे लोगों को अब डर सताने लगा है.

राजनीति

Edited By: PRIYANKA SINGH

Updated on: 4 सेकंड पूर्व

जम्मू-कश्मीर के अंनतनाग जिले में आतंकियों द्वारा सरपंच अजय पंडिता की गोली मारकर हत्या कर देने के बाद से घाटी में सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गये हैं. इसके बाद ही घाटी में रह रहे लोगों को अब डर सताने लगा है.

घाटी में बढ़ते आतंक को देखते हुए स्थानीय लोग अब घाटी छोड़ कर जाने को मजबूर हो रहे हैं. बताया जा रहा है कि पंडित सरपंच की हत्या किए जाने के बाद से ही बाकी सरपंचों में खौंफ पैदा हो गया है और इसी कारण कई लोग और पंडित पंच अपना घर छोड़ कर जम्मू की ओर कूच कर गये हैं.

बताया जा रहा है कि अजय पंडित का सम्बंध कांग्रेस पार्टी से था. आतंकियों ने अजय पंडित को उनके घर के पास ही गोलियों से भून दिया था और अस्पताल ले जाते हुए रास्ते में ही उनकी मौत हो गई थी. फ़िलहाल इस मामले में पुलिस जांच पड़ताल कर रही है.

वहीँ, पिछले कई दिनों से आतंकियों द्वारा जम्मू-कश्मीर की घाटियों में कई हमले किए जाने की कोशिश होती रही है लेकिन आतंकियों को इसमें सफलता नहीं मिली. लेकिन इस बार उन्होंने एक सरपंच को निशाना बना लिया और उनकी हत्या कर दी. जबकि जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच लगातार मुठभेड़ हो रही है, जिनमें पिछले कुछ दिनों में ही कई आतंकी मारे जा चुके हैं.

उधर, अजय पंडित की मौत के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्विट कर उनकी हत्या पर दुःख जताते हुए लिखा कि अजय पंडित ने कश्मीर में लोकतांत्रिक व्यवस्था बनाए रखने के लिए अपनी जान गंवा दी. इस दुःख के समय में मैं उनके परिवार के साथ खड़ा हूं, हिंसा की कभी जीत नहीं हो सकती.

वहीं, अजय पंडित की हत्या पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि अजय पंडित का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा और उनकी हत्या किया जाना, कश्मीर में आम लोगों में डर और विभिन्न वर्गों में नफरत पैदा करने की कोशिश की जा रही है.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here