Punjab government strict about Corona making plan for A App To track|कोरोना को लेकर पंजाब सरकार सख्त, नियम तोड़ने वालों के लिए बना रही ये प्लान

0
38

[ad_1]

चंडीगढ़: पंजाब सरकार कोविड-19 (Coronavirus) के संबंध में घर में पृथक-वास करने के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने वालों पर नजर रखने के लिए ग्लोबल पॉजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) ट्रैकर खरीदने पर विचार कर रही है.

एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि सिम कार्ड से लैस ट्रैकर को घर में पृथक-वास के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने वालों को पकड़ने के लिए राज्य सरकार के कोवा ऐप से जोड़ा जा सकता है.

राज्य सरकार ने एहतियात बरतने संबंधी सूचना और सरकार के अन्य परामर्शों को लोगों को उपलब्ध कराने के लिए कोवा पंजाब (कोरोना वायरस अलर्ट) ऐप बनाया है. 

पंजाब के विशेष सचिव एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (ई-गवर्नेंस) रवि भगत ने बुधवार को बताया, ‘यह कलाई पर बंधने वाला जीपीएस आधारित ट्रैकर है. अगर घर में पृथक-वास कर रहा कोई शख्स बाहर जाकर दिशा निर्देशों का उल्लंघन करता है तो यह एक अलर्ट भेजेगा.’

उन्होंने बताया, ’14 दिन की पृथक-वास की अवधि पूरी होने के बाद इसे फिर से इस्तेमाल किया जा सकता है.’

भगत ने कहा कि जीपीएस आधारित ट्रैकर खरीदने पर बातचीत चल रही है. स्वास्थ्य विभाग ने अभी इस पर फैसला नहीं लिया है.

पंजाब में अभी करीब 20,000 लोग घरों में पृथक-वास कर रहे हैं. इनमें वे लोग भी शामिल हैं जो अन्य राज्यों से लौटे हैं.

दिशा निर्देशों के मुताबिक घर में पृथक-वास कर रहे लोगों को अपने मोबाइल फोन पर कोवा ऐप डाउनलोड करना होता है ताकि उनकी गतिविधियों पर नजर रखी जा सके.

ऐसी खबरें हैं कि घर में पृथक-वास कर रहे कई लोगों ने कोवा ऐप डाउनलोड नहीं किया जबकि कुछ ने जीपीएस और ब्लूटूथ चालू नहीं किया और कुछ लोग अपने मोबाइल फोन घरों में रखकर बाहर चले जाते हैं.

राज्य सरकार ने कोविड-19 वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के लिए घर पर पृथक-वास के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने पर जुर्माना राशि 500 रुपए से बढ़ाकर 2,000 रुपए कर दी है. 



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here